वात रोग को कैसे दूर करे ?

वात रोग को कैसे दूर करे
वात रोग को कैसे दूर करे

वात रोग को कैसे दूर करे? (Gas Problem in HINDI) | A to Z full information about this topic only at www.jankariabhindime.com

नमस्कार दोस्तों,

स्वागत है आपका जानकारी अब हिंदी में के एक और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी से भरे आर्टिकल में।

आज कल वात रोग की बीमारी लोगों में common हो चुकी है।

डॉक्टर्स के पास वात रोग के patients की लाइन लगी होती है।

और इसी वात रोग की Problem से शरीर में विविध बीमारी का जन्म होता है।

वात रोग को कैसे दूर करे?

तो क्या आप भी वात रोग से परेशान है और उससे छुटकारा पाना चाहते है ?

आज में बताऊंगा वात रोग की समस्या को दूर करने के कुछ आसान और असरदार नुस्खे एवं वात से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में

तो जानने के लिए जुड़े रहे हमारे साथ।

वात रोग क्या है?

कभी कभार शरीर के विभिन्न भागों में गैस जमा होने या यूरिक एसिड अधिक मात्रा में

जमा होने से घुटनों में दर्द, हड्डियों में केविटी, स्किन का रफ होना, शरीर कमजोर होना, पाद आना,

शरीर में तेज दर्द, जैसे विभिन्न रोग होते है, जिन्हे वात रोग कहते है

वात का शरीर में क्या महत्व है ?

वात या वायु शरीर का संचालन करने में खूब मदद करता है। वात शरीर के सभी अंगो में वहन करता है, जैसे की खून की नलियों, गंध की नलियों, आदि।

यह हमारे शरीर के कचरे को निकालने में मदद करता है, इस तरह वात शरीर को कई रोगो से बचाता है।

इसी लिए यह कहना की हमारे शरीर में वात, पित्त, और कफ सिर्फ नुकसानदायक है, वह बिलकुल गलत है।

बल्कि यह सब हमारी शरीर की संरचना को Properly Maintain करते है

वात रोग क्यों होते है ?

हमने जाना की वात का हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है,

किन्तु यह दूषित होता है, हमारी कुछ गलतियों के कारण

अतः यह विभिन्न बीमारियों का कारण बनती है।

तो जानिए वात रोग होने के विभिन्न कारण :

अगर आप किसी बात या काम को लेकर ज्यादा Stress लेते है तो वह भी वात रोग होने का कारण बन सकता है।

जो लोग ज्यादा शारीरिक श्रम या कसरत-व्यायाम नहीं करते,

और सिर्फ खा-पीकर सोते रहते है या बैठे रहते है, उन्हें वात रोग होने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है।

पाचन तंत्र बहुत कमजोर होना और पेट पर्याप्त मात्रा में साफ न होना भी वात रोग होने के मुख्य कारणों में से एक है।

खाना खाकर सीधे सोने से या बैठने से और देर रात को सोने की आदत से भी वात रोग या गैस होता है।

ज्यादा तला हुआ भोजन और अधिक मात्रा में Junk food का सेवन करने से आप वात रोग या गैस के शिकार हो सकते है।

ज्यादा मसालेदार या वायु वर्धक आहार का सेवन करने से भी वात रोग हो सकते है।

आप ज्यादा समय तक कंप्यूटर या अन्य किसी जगह बैठ कर काम करते हो तो आपको भी वात रोग हो सकता है।

वात रोग को कैसे दूर करे ?

अगर किसी रोग को हमारे शरीर से न भगाया जाये तब तक वह हमारे शरीर को किसी न किसी प्रकार से नुकसान पहुंचाता है।

इसीलिए कहते है न “Prevention is better than cure” मतलब “रोग के प्रति सावधानी उसके इलाज से बेहतर है।”

लेकिन हम कोई न कोई भूल करके बीमारी को निमंत्रण दे ही देते है।

वात रोग को कैसे दूर करे? मुक्ति पाने के कुछ नुस्खे :

वात रोग में गिलोय और एलोवेरा के रस का सेवन बहुत फायदेमंद रहता है।

अपने खाने में बासी और ठंडी चीजों का उपयोग कम करने से वात रोग में राहत होती है।

सूरज की किरणों को विटामिन D का मुख्य स्रोत माना जाता है।

रोज सुबह कुछ देर सूरज की किरणों में बैठना कई रोगो में फायदेमंद होता है।

सूरज की किरणे वातावरण के साथ हमारे शरीर को भी गर्म करती,

जो वात के रोग में असरदार हो सकता है।

पुराने जमाने में लोग तांबे के बर्तन में खाना पसंद करते थे,

क्योकि तांबे में कुछ जबरदस्त प्राकृतिक गुण है, जो हमारे शरीर में जरुरी रसायन पैदा करने में मददरूप होता है।

रोज तांबे के बर्तन में पानी पीना वात रोग में खूब लाभदायी है।

आयुर्वेद के अनुसार दालचीनी पेट के कई रोगों में फायदेमंद है, इसीलिए दालचीनी का नियमित सेवन पेट के वात रोगो में खूब लाभदायी होता है।

खट्टे फल जैसे की अनार, निम्बू का रस का सेवन करना वात रोग में लाभदायी साबित हो सकता है।

नियमित ध्यान और योगासन वात रोग में ही नहीं बल्कि विश्व के सारे रोगो में फायदेमंद है।

दोस्तों, यह थे वात रोग को दूर करने के कुछ घरेलु नुस्खे।

हमे आशा है की आपको भी यह उपयोगी और असरदार रहेंगे।

हमारे और लेख जो आपको जरूर पसन्द आयेंगे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*