Anxiety Meaning in HINDI चिंता मुक्त कैसे रहे?

Anxiety Meaning in HINDI
Anxiety Meaning in HINDI

Anxiety Meaning in HINDI | चिंता मुक्त कैसे रहे? | Anxiety की परिभाषा | ANXIETY का हिन्दी अर्थ | चिंता की समस्या (Anxiety problem) | चिंता को दूर कैसे करें in HINDI.

नमस्कार दोस्तों,

स्वागत है आपका जानकारी अब हिंदी में’ के एक और आर्टिकल में. आज हम बात करेंगे चिंता के बारे में.

छोटों को पढ़ाई की चिंता, बड़ो को चिंता, बूढ़ों को रहने-खाने की चिंता

चिंता, चिंता, चिंता… आज कल बच्चो से लेकर बड़े किसको चिंता नहीं है?

कभी कभी लोग चिंता की वजह से आत्महत्या भी कर लेते हैं. क्या यह सही है?

Define: Anxiety Meaning in Hindi & different languages

चिंता – Anxiety Meaning in hindi (हिंदी)

A feeling of worry, Nervousness, depression – Anxiety Meaning in ENGLISH

பதட்டம் – Anxiety Meaning in Tamil (तमिल)

चिंता – Anxiety Meaning in MARATHI (मराठी)

ఆందోళన – Anxiety Meaning in TELUGU (तेलुगु)

ഉത്കണ്ഠ – Anxiety Meaning in Malayalam (मलयालम)

ಆತಂಕ – Anxiety Meaning in Kannada (कन्नड़)

ਚਿੰਤਾ – Anxiety Meaning in Punjabi (पंजाबी)

ચિંતા – Anxiety Meaning in GUJARATI (गुजराती)

উদ্বেগ – Anxiety Meaning in Bengali (बंगाली)

اضطراب – Anxiety Meaning in URDU (उर्दू)

Anxiety meaning in Hindi with example

चिंता का अर्थ इंग्लिश में होता है Anxiety (एंग्जायटी) । चिंता क्या है? (what is anxiety definition)

चिंता के कई अर्थ होते हैं, जैसे व्याकुलता, सोच, उत्कंठा, फ़िक्र, व्यग्रता.

अगर आपको कल ऑफिस जल्दी पहुंचना है, उसकी चिंता। काम बढ़ गया है उसकी चिंता। पैसे नहीं हैं उसकी चिंता. कल सुबह क्या नाश्ता बनाये, खाने में  क्या बनायें उसकी चिंता. अगर हमारा कोई परिजन बहार है उनकी चिंता, बच्चो की चिंता, कोई बीमार है उसकी चिंता…..

क्या आप चिंतित है? जानिए अपनी चिंताओं से कैसे मुक्ति पाए हिंदी में.

चिंता मुक्त होने का सबसे अच्छा उपाय है, चिंता छोडो चिंतन शुरू करो.

Home remedies for anxiety in hindi and

हम चिंतित क्यों होते है? (Anxiety Meaning in hindi)

कारण 1. कोई समस्या की वजह से

चिंतित मानवी (Concerned human)
चिंतित मानवी (Concerned human)

अगर आपके जीवन में कोई समस्या है तो चिंता करने से अच्छा है आप चिंतन करो. समस्या को समझो और सोचो की उसका क्या उपाय निकल सकता है और इम्प्लीमेंट करो. जो हमारे पास नहीं है उसका रोना रोने से अच्छा है लेकिन जो है उसके बारे में सोचे.

Example 1

आपके पास पैसे नहीं है? घर बेचने की नौबत आ गई है? आपके बैठे बैठे चिंता करने से कुछ हासिल नहीं हो सकता, अंदर से सकारात्मक बनो. बीच जायेगा तो ठीक है, दूसरा छोटा ले लेंगे। फिर हमें सोचना है की हमें कैसे वापस पटरी पे आना है.

एक बात याद रखे, की शांत मगज किये बिना आप कुछ सोच नहीं सकते. समस्या का समाधान बहोत छोटा होता है लेकिन हम चिंता करते रहते है इस लिए हमें वह दिखाई नहीं देता है.

Example 2

आप की रिलेशनशिप में प्रॉब्लम होना. झगड़े बहुत होते है? सोचिये क्यों होते हैं? आप सोचते हो दोनों में अंडरस्टैंडिंग होनी चाहिए, आप सोचते हो की आप तो समझते हो लेकिन सामने वाला इंसान समझता नहीं है. प्रॉब्लम वही पर है. हमेशा दुसरो के बदलने का सोचने से पहले खुद को बदलना सीखो. समस्या की जड़ तक जाओ, कही न कही आप का थोड़ा बदलने से समस्या का समाधान हो सकता होगा. सोचो, समाधान निकालो, और इम्प्लीमेंट करो.

झगड़ा से चिंता (Quarrel anxiety)
झगड़ा से चिंता (Quarrel anxiety)

हम हमेशा यही सोचते हैं की इस इंसान को ऐसा होना चाहिए, उस इंसान को वैसा होना चाहिए, लेकिन एक इंसान सभी को तो बदल नहीं सकता है. तो फिर खुद को ही बदल डालो बात ख़तम.

इस प्रॉब्लम का उपाय यही है की

हमेशा हर किसी से आशा रखना छोड़ दो, सकारात्मक बनो, और खुश रहो.

कारण 2. हमारे किसी अतीत की वजह से

किसी अपने का आज साथ ना होना. कोई भी अतीत आप के आज पर भारी नहीं हो सकता है. जहाँ पर एक्शन काम नहीं आता वह पर हमारी सोच काम आ सकती है. यह तो हर कोई जनता है की हर किसी को एक दिन जाना ही है, किसी को आज तो किसी को कल. तो अगर आपका कोई स्वजन अगर मृत्यु को प्राप्त होता है तो स्वीकार कीजिये.

यह मत सोचिये की वह आपके साथ नहीं है, उनकी यादें तो है. हर किसी के जीवन में ऐसा व्यक्ति मिलना बहुत ही मुश्किल है, लेकिन आपको मिला. आपके पास उनकी मीठी यादें हैं. बस उसी को याद कर कर खुश रहिये क्योकि एक दिन मृत्यु को तो हमें भी प्राप्त होना ही है.

How to overcome anxiety in Hindi (चिंता को दूर कैसे करें)

1. अपनी समस्या से न डरे सकारात्मक बने और समस्या का स्वीकार करे.

2. अपनी समस्याओ को ज्यादा गंभीरता से न ले.

3) ‘मुझे ही समझना है’ बस

4) हररोज योग और ध्यान करें.

योग की आदत (Yoga habit)
योग की आदत (Yoga habit)

हमें मन से स्वस्थ और चिंता मुक्त रहने के लिए तन से भी स्वस्थ रहना आवश्यक है. यदि हम रोज योग करते हैं तो हमारे शरीर में नयी ऊर्जा और नयी स्फूर्ति आती है. और अगर आप योग करते हो तो आपको बीमारी छू नहीं पायेगी, और अगर बीमारी आ गयी तो आप जल्द से जल्द स्वस्थ हो जायेंगे. इसलिए हमें तन और मन दोनों की स्फूर्ति के लिए योग की आदत बना लेनी चाहिए.

5) हर रोज अपने परिवार के साथ कुछ समय व्यतीत करें.

अगर हमें चिंता मुक्त रहना है तो हर रोज अपने परिवार के साथ बैठकर थोड़ी बातचीत करनी चाहिए. क्या पता हमारी चिंता का समाधान हमारे घर में से ही मिल जाये. कभी कभी हम अगर किसी को मात्र हमारी चिंता कह देने से भी आधी हो जाती है. अगर परिवार में एकता नहीं है तो भी  साथ बैठकर बात करने से समस्या का हल निकल सकता है.

6) ईश्वर पर भरोसा रखें (Anxiety Meaning in hindi)

ईश्वर पर भरोसा रखें (Trust god) Anxiety Meaning in HINDI BLOG
ईश्वर पर भरोसा रखें (Trust god)

अगर आप आस्तिक हैं तो चिंता मुक्त होने का यह सबसे अच्छा और असरदार उपाय है. ईश्वर पर भरोषा रखें. यदि भगवन ने हमें जन्म दिया है तो हमारा पालन पोषण करना भी उन्ही का काम हैं जो हाथी को मन और चींटी को कण देते हैं. भगवान कृष्णा ने अर्जुन से गीता में  कहा है, कर्म किये जा फल  की इच्छा मत कर.

वैसे ही हमें बस सिर्फ सोचना है और काम करते रहना है. बाकी सब चिंता भगवान् पर छोड़ देनी चाहिए. ईश्वर पर भरोसा रखिये, वो किसी का बुरा नहीं चाहते हैं. जो करते हैं वो हमारे अच्छे के लिए ही करते हैं. तो सब ईश्वर पर छोड़ दे और चिंता मुक्त रहें और खुश रहें.

दोस्तों, मुझे आशा हे की Anxiety Meaning in HINDI | चिंता मुक्त कैसे रहे? आपको पता चल गया होगा |

यहाँ आने के लिए धन्यवाद…

हमारे और लेख जो आपको जरूर पसन्द आयेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*